Friday, 21 September 2018

RAGHUPATI RAGHAV LYRICS | रघुपति राघव राजाराम

RAGHUPATI RAGHAV LYRICS - Satyagraha Title Song


Raghupati Raghav Raja Ram
Patit paavan Sitaram
Satyagraha.. Satyagraha..
Raghupati Raghav Raja Ram
Patit paavan Sitaram
Satyagraha..
Raghupati Raghav Rajaram
Patit paavan Sitaram
Ab tak dheeraj maanga tha
Prabhu ab dheeraj mat dena
(Prabhu ab dheeraj mat dena)
Sehte jayein, sehte jaayein, sehte jaayein..
Aisa bal bhi mat dena
(Aisa bal bhi mat dena)
Uth kar karne hain kuch kaam
Raghupati Raghav Raja Ram
Raghupati Raghav Raja Ram
Uth kar karne hain kuch kaam (x2)
Tum karuna ke saagar
Tum paalan karta
Par jo zulm hai karta
Wo kahaan tum se darta
Tu pooran parmatma
Tum antaryaami
Par phir kaise hoti rehti
Har pal ye manmaani
Ghayal hai bhola insaan
Raghupati Raghav Raja Ram
Raghupati Raghav Raja Ram
Ghaayal hai bhola insaan (x2)
(Ghaayal hai bhola insaan..)
Toot raha hai ab vishwas
Paanch varsh dhundhla aakash
Kaun dwaar hum khatkhayein
Kaunse waade dohraayein
Aam aadmi kitna..
Raghupati Raaghav Rajaram
Haan ghar se nikle hain subah
Tan-man-dhan sab hain taiyyar
Khali haath naa lotenge
Tay kar ke aaye iss baar
Andar ek sipaahi hai
Jisne lee angdaai hai
Ab tak soya soya tha
Sapno mein hi khoya tha
Bahut ho gaya hai vishram
Raghupati Raghav Rajaram
Raghupati Raghav Rajaram
Raghupati Raghav Rajaram..
Raghupati Raghav Raja Ram
Ghaayal hai bhola insaan
Raghupati Raghav Raja Ram
Uth kar karne hain kuch kaam (x2)
Raghupati Raghav Raja Ram
Patit paavan Sitaram
रघुपति राघव राजा राम पतित पावन सीता राम
सत्याग्रह सत्याग्रह
रघुपति राघव राजा राम पतित पावन सीता राम सत्याग्रह
रघुपति राघव राजा राम पतित पावन सीता राम
अब तक धीरज मांगा था, प्रभु अब धीरज मत देना
प्रभु अब धीरज मत देना
सहते जाएं सहते जाएं सहते जाएं
ऐसा बल भी मत देना ऐसा बल भी मत देना
उठ कर करने हैं कुछ काम रघुपति राघव राजा राम
रघुपति राघव राजा राम उठ कर करने हैं कुछ काम
रघुपति राघव राजा राम उठ कर करने हैं कुछ काम
तुम करुणा के सागर, तुम पालन कर्ता
पर जो ज़ुल्म है करता वो कहा तुमसे डरता
तुम पूरण परमात्मा, तुम अंतरयामी
पर फिर कैसे होती रहती हरपल ये मनमानी
घायल है भोला इंसान रघुपति राघव राजा राम
रघुपति राघव राजा राम घायल हैं भोला इंसान
रघुपति राघव राजा राम घायल हैं भोला इंसान
घायल है भोला इंसान घायल हैं भोला इंसान
टूट रहा है अब विश्वास, पांच वर्ष धुंधला अवकाश
कौन द्वार हम खटकायें, कौन से वादे दोहराएं
आम आदमी कितना रघुपति राघव राजा राम
हां घर से निकले हैं सुबह तन मन धन सब हैं तैयार
खाली हाथ ना लौटेंगे तय करके आये इस बार
अंदर एक सिपाही हैं जिसने ली अंगडाई हैं
अब तक सोया सोया था सपनों में ही खोया था
बहुत हो गया है विश्राम रघुपति राघव राजा राम
रघुपति राघव राजा राम रघुपति राघव राजा राम
रघुपति राघव राजा राम घायल है भोला इंसान
रघुपति राघव राजा राम उठ कर करने हैं कुछ काम
रघुपति राघव राजा राम घायल है भोला इंसान
रघुपति राघव राजा राम उठ कर करने हैं कुछ काम
रघुपति राघव राजा राम पतित पावन सीता राम
Movie: Satyagrah (2013)
Singer(s): Rajeev Sundaresan, Shivam Pathak, Shweta Pandit
Music: Salim – Sulaiman
Lyrics: Prasoon Joshi