Tuesday, 16 January 2018

HAI PAREET JAHA KI / है प्रीत जहाँ की रीत सदा / LYRICS IN HINDI

है प्रीत जहाँ की रीत सदा


जब ज़ीरो दिया मेरे भारत ने
भारत ने मेरे भारत ने
दुनिया को तब गिनती आयी
तारों की भाषा भारत ने
दुनिया को पहले सिखलायी

देता ना दशमलव भारत तो
यूँ चाँद पे जाना मुश्किल था
धरती और चाँद की दूरी का
अंदाज़ा लगाना मुश्किल था

सभ्यता जहाँ पहले आयी
पहले जनमी है जहाँ पे कला
अपना भारत वो भारत है
जिसके पीछे संसार चला
संसार चला और आगे बढ़ा
यूँ आगे बढ़ा, बढ़ता ही गया
भगवान करे ये और बढ़े
बढ़ता ही रहे और फूले-फले

है प्रीत जहाँ की रीत सदा
मैं गीत वहाँ के गाता हूँ
भारत का रहने वाला हूँ
भारत की बात सुनाता हूँ

काले-गोरे का भेद नहीं
हर दिल से हमारा नाता है
कुछ और न आता हो हमको
हमें प्यार निभाना आता है
जिसे मान चुकी सारी दुनिया
मैं बात वो ही दोहराता हूँ
भारत का रहने...

जीते हो किसी ने देश तो क्या
हमने तो दिलों को जीता है
जहाँ राम अभी तक है नर में
नारी में अभी तक सीता है
इतने पावन हैं लोग जहाँ
मैं नित-नित शीश झुकाता हूँ
भारत का रहने...

इतनी ममता नदियों को भी
जहाँ माता कह के बुलाते है
इतना आदर इन्सान तो क्या
पत्थर भी पूजे जातें है
इस धरती पे मैंने जनम लिया
ये सोच के मैं इतराता हूँ
भारत का रहने...

HAI PAREET JAHA KI 

Jab zero diya mere bharat ne
Duniyaan ko tab ginati aai
Taron ki bhasha bharat ne
Duniyaan ko pahale sikhalai
Deta na dashamal bharat to
Yun chaand pe jana mushkil tha
Dharti aur chand ki doori ka
Andaja lagana mushkil tha
Sabhyata jahan pahle aai
Pahale janmi hain jahanpe kala

Apana bharat wo bharat hai
Jis ke peechhe sansar chala
Sansar chala aaur aage badha
Yun aage badha badhata hi gaya
Bhagawan kare ye aaur badhe
Badhata hi rahe aur foole fale

Hai pareet jaha ki reet sada
Main geet waha ke gaata hoon
Bharat ka rahane wala hoon
Bharat ki baat sunata hoon

Kaale gore ka bhed nahi
Har dil se humara nata hai
Kuchh aur na aata ho hum ko
Hume pyaar nibhana aata hai
Jise maan chooki saari duniya
Main baat wahi doharata hoon
Bharat ka rahane wala hoon
Bharat ki baat sunata hoon

Jeete ho kisi ne desh to kya
Hum ne to dilon ko jeeta hai
Jaha raam abhi tak hain nar mein
Nari mein abhi tak seeta hai
Kitane pawan hain log jaha
Main nit nit sheesh jhookata hoon
Bharat ka rahane wala hoon
Bharat ki baat sunata hoon

Itani mamata nadiyon ko bhi
Jaha mata kah ke bulate hai
Itana aadar insan to kya
Patthar bhi pooje jate hai
Us dharati pe maine janam liya
Yeh soch ke main itarata hoon
Bharat ka rahane wala hoon
Bharat ki baat sunata hoon

No comments:

Post a Comment